16 मई: राष्ट्रीय डेंगू दिवस, विश्व कृषि-पर्यटन दिवस

प्रत्येक वर्ष 16 मई को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय डेंगू दिवस (National Dengue Day) के रूप में मनाया जाता है. इस दिवस को मनाने का उद्देश्य डेंगू से बचाव के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करना है. इस वर्ष यानी 2023 की थीम ‘समुदाय को डेंगू की जानकारी, लक्षणों की पहचान एवं बचाव के उपायों की जानकारी देना है.

डेंगू (Dengue) क्या है?

डेंगू एक विषाणु जनित (वायरल) रोग है. यह संक्रमित मादा एडीज मच्छर (Female Aedes Mosquito) के काटने से फैलता है. डेंगू का मच्छर पानी में पनपता है. यह मच्छर अधिकतर रोशनी में काटते हैं. बारिश होने के साथ देश में जुलाई से अक्टूबर के दौरान सबसे ज्यादा डेंगू फैलता है.

डेंगू होने पर व्यक्ति को तेज़ बुख़ार, शरीर में दर्द, आंखों में दर्द और त्वचा पर चकत्ते जैसे लक्षण हो सकते हैं. डेंगू के कारण खून में प्लेटलेट कम हो जाती है.

विश्व कृषि-पर्यटन दिवस

प्रत्येक वर्ष 16 मई को विश्व कृषि-पर्यटन दिवस (World Agri-Tourism Day) मनाया जाता है. इस दिवस को मनाने का उद्देश्य कृषि और पर्यटन क्षेत्र को एकीकृत कर किसानों की आय में बढ़ोतरी करना है.

  • कृषि पर्यटन का आशय पर्यटन के उस रूप से है, जिसमें ग्रामीण संस्कृति को पर्यटक आकर्षण के रूप में प्रस्तुत किया जाता है. यह पारिस्थितिक पर्यटन के समान ही है, यद्यपि इसमें प्राकृतिक परिदृश्य के बजाय सांस्कृतिक परिदृश्य को शामिल किया जाता है.
  • महाराष्ट्र, देश में कृषि पर्यटन को विकसित करने और बढ़ावा देने वाला अग्रणी राज्य है. महाराष्ट्र में वर्ष 2005 में कृषि-पर्यटन को बढ़ावा देने के लिये कृषि पर्यटन विकास निगम (ATDC) का गठन किया गया था.
लेटेस्ट कर्रेंट अफेयर्स 〉