केंद्रीय वित्‍त मंत्री ने श्रीलंका की तीन दिन की राजकीय यात्रा संपन्न की

केंद्रीय वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारामन 1 से 3 नवंबर तक श्रीलंका की राजकीय यात्रा पर थे. इस यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच महत्‍वपूर्ण वार्ताएं और राजनयिक विचार-विमर्श हुए थे.

मुख्य बिन्दु

  • वित्‍त मंत्री सीतारामन ने श्रीलंका में भारतीय मूल के तमिलों के आगमन के 200 वर्ष पूरे होने के अवसर पर श्रीलंका सरकार द्वारा आयोजित ‘नाम टू हंड्रेड’ सम्‍मेलन को संबोधित किया था. समारोह में श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रम सिंघे और प्रधानमंत्री दिनेश गुणावर्धने भी शामिल थे.
  • उन्होंने ‘भारत-श्रीलंका व्यापार शिखर सम्मेलन’ को भी सम्‍बोधित किया. सम्मेलन का विषय था- सम्‍पर्क वृद्धि: समृद्धि के लिए भागीदारी. इसका उद्देश्य दोनों देशों के बीच आर्थिक सहयोग और व्यापार को बढ़ावा देना था.
  • वित्तमंत्री श्रीलंका के नेताओं के साथ भी वार्ता किए जिसमें दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों के कार्यनीतिक महत्व पर जोर दिया गया.
  • ऊर्जा क्षेत्र में सक्षमता के लिए वित्तमंत्री की उपस्थिति में श्रीलंका में धार्मिक स्‍थलों के सौर विद्युतीकरण के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए. भारत इस परियोजना के लिए भारत 82.40 करोड रुपए आवंटित करेगा.
  • भारत ने गत वर्ष श्रीलंका के आर्थिक संकट के दौरान उसे चार अरब अमरीकी डॉलर की अभूतपूर्व मानवीय सहायता प्रदान की थी.