बांग्लादेश की प्रधानमंत्री की भारत यात्रा, कई समझौतों ज्ञापनों पर हस्ताक्षर

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना 22 जून को भारत की यात्रा पर थे. इस यात्रा के दौरान उन्होंने राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मु और उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ से मुलाकात की. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय बैठक की जिसमें दोनों देशों के बीच विभिन्न क्षेत्रों में अनेक समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए.

भारत-बांग्‍लादेश द्विपक्षीय बैठक मुख्य बिन्दु

  • नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के बीच द्विपक्षीय बैठक हुई. बैठक में विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े कई समझौतों ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए और कई समझौता ज्ञापनों का नवीनीकरण किया.
  • इन समझौतों में डिजिटल और हरित भागीदारी, समुद्री सहयोग, स्वास्थ्य और चिकित्सा, अंतरिक्ष सहयोग, रेलवे संपर्क, समुद्र विज्ञान, आपदा प्रबंधन और मत्स्य पालन के क्षेत्र शामिल हैं.
  • भारत और बांग्लादेश ने दोनों देशों की संपन्नता के लिए क्नेक्टिविटी, वाणिज्य और सहयोग बढ़ाने के लिए भविष्य का एक दृष्टिकोण-पत्र साझा किया. इस पत्र में भारत के विकसित भारत विजन-2047 और बांग्लादेश के स्मार्ट बांग्लादेश विजन-2047 की परिकल्पना का उल्लेख किया गया है.
  • दोनों नेता आतंकवाद से निपटने संबंधी गतिविधियों में तेजी लाने, कट्टरवाद से निपटने और लंबी भू-सीमा पर शांतिपूर्ण प्रबंधन करने पर भी सहमत हुए.
  • प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बांग्लादेश, भारत की पडोसी प्रथम और एक्ट ईस्ट नीति का आधार स्‍तंभ है. अपने संबोधन में उन्होंने कहा, 2026 में बांग्लादेश डेवलपिंग कंट्री बनने जा रहा है. मुझे पूरा विश्वास है कि हम साथ मिलकर विकसित भारत 2047 और स्मार्ट बांग्लादेश 2041 के संकल्पों को सिद्धि तक ले जाएंगे.
  • बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने भारत को विश्वसनीय मित्र और क्षेत्रीय भागीदार बताया. बाद में, शेख हसीना ने राष्‍ट्रपति भवन में राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मु से मुलाकात की.
लेटेस्ट कर्रेंट अफेयर्स 〉