20 जून: विश्‍व शरणार्थी दिवस

प्रत्येक वर्ष 20 जून को विश्‍व शरणार्थी दिवस (World Refugee Day) मनाया जाता है. इस दिवस को मनाने का उद्देश्य शरणार्थियों के संघर्ष और योगदान को याद करना है.

विश्‍व शरणार्थी दिवस 2024 की थीम

इस वर्ष यानी 2024 में विश्‍व शरणार्थी दिवस का मुख्य विषय (थीम)- ‘एक ऐसे विश्व के लिए जहां शरणार्थियों का स्वागत किया जाता है’ (For a World Where Refugees Are Welcomed) है.

विश्‍व शरणार्थी दिवस का इतिहास

संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) ने प्रत्येक वर्ष विश्व शरणार्थी दिवस के रूप में मनाये जाने की घोषणा 2000 में की थी. इसे दिवस घोषित करने से पहले 20 जून को कई देशों में अफ्रीकी शरणार्थी दिवस औपचारिक रूप से मनाया गया था.

शरणार्थी (Refugee) क्या है?

शरणार्थी यानि शरण में उपस्थित असहाय, लाचार, निराश्रय तथा रक्षा चाहने वाले व्यक्ति या उनके समूह को कहते हैं. इस प्रकार वह व्यक्ति विशेष या उनका समूह जो किसी भी कारणवश अपना घरबार या देश छोड़कर अन्यत्र के शरणांगत हो जाता है, वह शरणार्थी कहलाता है.

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) के अनुसार, विश्व में सबसे अधिक (6.6 मिलियन, 68%) शरणार्थी सीरिया से हैं. इसके बाद वेनेजुएला (3.7 मिलियन), अफगानिस्तान (2.7 मिलियन), दक्षिण सूडान (2.2 मिलियन) और म्यांमार (1.1 मिलियन) देशों से हैं.

लेटेस्ट कर्रेंट अफेयर्स 〉