ब्रिक्स के विदेश मंत्रियों की बैठक रूस में आयोजित की गई

ब्रिक्स के विदेश मंत्रियों की बैठक रूस के निज़नी नोवगोरोड में 10 जून को आयोजित की गई थी. बैठक में वैश्विक और क्षेत्रीय मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया.

मुख्य बिन्दु

  • ब्रिक्स के विदेश मंत्रियों ने विश्‍व के कई भागों में चल रहे संघर्षों पर चिंता व्यक्त की. उन्‍होनें कूटनीति, समावेशी विचार-विमर्श के माध्यम से विवादों के शांतिपूर्ण समाधान की प्रतिबद्धता व्‍यक्‍त की है.
  • विदेश मंत्रियों ने संयुक्त वक्तव्य में, संघर्ष की स्थितियों में अंतरराष्ट्रीय मानवीय कानून के प्रति पूर्ण सम्मान और मानवता के मूलभूत सिद्धांतों के अनुरूप मानवीय सहायता की आवश्यकता पर बल दिया.
  • विदेश मंत्रालय में आर्थिक संबंध मामलों के सचिव डी रवि ने भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया. डॉ. सुब्रह्मण्‍यम जयशंकर को विदेश मंत्री के रूप में 10 जून को ही दोबारा नियुक्त किया गया था, इसलिए वह बैठक में शामिल नहीं हो सके थे.
  • भारत ने ब्रिक्स की बैठक में पहली बार भाग लेने वाले नए सदस्य देशों – मिस्र, ईरान, संयुक्त अरब अमीरात, सऊदी अरब और इथियोपिया के प्रतिनिधियों का हार्दिक स्वागत किया. 2023 में हुए ब्रिक्स के विस्तार में इन देशों को शामिल किया गया था.
लेटेस्ट कर्रेंट अफेयर्स 〉